Hindi Status

जुम्मा मुबारक शेरो शायरी – जुम्मा पर शायरी – जुम्मा मुबारक कोट्स

जुम्मा मुबारक शेरो शायरी – जुम्मा पर शायरी – जुम्मा मुबारक कोट्स – मुस्लिम धर्म  में शुक्रवार को जुमा कहते है, ये हफ्ते के हर छठे दिन आता है। जुमे के दिन को इस्लाम में काफी पवित्र दिन माना गया है। इस दिन प्रत्येक मुस्लमान दोपहर के समय मस्जिद में जाकर नमाज़ अदा करते है, व अल्लाह से दिल से दुआ करते है।  जुम्मे को Salat-Al-Jumu’ah भी कहते है।

दोस्तों अगर आप इंटरनेट पर जुम्मा मुबारक हो शायरी से सम्बंधित शायरी या स्टेटस खोज रहे थे तो आप बिलकुल सही स्थान पे हो। क्योकि आज की इस पोस्ट में हम पढ़ेंगे – जुम्मा मुबारक शायरी, जुम्मा मुबारक दुआ में याद रखना, Jumma Mubarak Status In Hindi, जुम्मा मुबारक शेरो शायरी, Jumma Mubarak Status Or Shayari Hindi, Jumma Mubarak Shayari 2 Line, Happy Jumma Shayari for Whatsapp, Jumma Mubarak Ho Aap Ko, जुम्मा की मुबारकबाद शायरी आदि का अनोखा संग्रह जो आपको बेहद ही पसंद आएगा।

 ये भी पढ़े

अगर आपको हमारे द्वारा तैयार किया गया ये Jumma Mubarak Shayari Images In Hindi, जुमा मुबारक फोटो, Shayari On Jumma Mubarak, Jumma Mubarak SMS, जुम्मा मुबारक शेरो शायरी, Jumma Ke Fazeelat, जुम्मा मुबारक दुआ में याद रखना, Jumma Mubarak Quotes, जुम्मा मुबारक शायरी 2 लाइन  का संग्रह पसंद आये तो इसको फेसबुक, व्हाट्सअप, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर अपने मित्रो के साथ शेयर करना न भूले।


जुम्मा मुबारक शायरी 2 लाइन

जुम्मा मुबारक शायरी 2 लाइन


ख़ुदा की रहमत सभी पर बरसे,
दो वक्त की रोटी के लिए कोई न तरसे।
अल्लाह सब के सात हैं,
तस्वीर ए कैनात का अक्स हैं अल्लाह,
दिल को जो जगा दे वो एहसास हैं अल्लाह,
ए बाँदा ए मोमिन तेरा दिल क्यों उदास हैं,
दिल से ज़रा पुकार तेरे पास हैं अल्लाह।
जुम्मा मुबारक!
ख़ुदा के सजदें में जब मैं सिर को झुकाता हूँ,
मैं अपने सारे दुःख-दर्दों का हल पाता हूँ।
ऐ खुदा ..
बस यें ही दुआ हैं आपसें …
धन व सम्रद्धि बरसे या ना पर…
अन्न व प्यार को कोई न तरसे।
नमाज़ की तो वो शान है जो रोक देती हैं,
तवाफ़-ए-काबा को ए इंसान,
तेरे कामों की क्या औक़ात है,
जिस के लिए तू नमाज़ को छोड़ देता हैं।
जुम्मा मुबारक!

जुम्मा मुबारक शेरो शायरी


पूरा जीवन बीत जाएँ ख़ुदा की बंदगी में,
पाँचों वक्त का नमाज अदा करू जिंदगी में।
वो चमक चाँद में है न सितारों में हैं,
जो मदीने के दिलकश नजारों में हैं,
बेजुबान पत्थरों को भी बख्श दी जुबान,
इतनी ताकत मेरे नबी के इशारों में हैं।
ए अल्लाह एक मौका हमको भी दे सफर-ए-मक्का का,
सुना हैं तेरे घर और जन्नत में कोई फर्क नहीं।
कर लेता हूँ बर्दाश्त हर दर्द इसी आस के साथ,
कि ख़ुदा नूर भी बरसाता है आजमाइशों के बाद।
ईमान में ही कोई कसर होता हैं,
वरना दुआओं का खूब असर होता हैं।

जुम्मा मुबारक शायरी – आपको जुम्मा मुबारक हो


जीवन में कुछ अच्छे कर्म भी कर लिया करो,
गरीबों के लिए भी इक दुआ पढ़ लिया करो।
मेरी खाली झोली में दुआ के अल्फाज़ डाल दो,
क्या पता तुम्हारे होठ हिले और मेरी तकदीर संवर जाए।
हर किसी के लिए दुआ किया करों,
कया पता किसी के नशीब में,
आपकी दुआ का इंतज़ार कर रही हो।
रब से जब भी मांगो रब को ही मांगो,
जब रब तुम्हारा होगा तो सब तुम्हारा होगा।
दुआओं में सबकी खुशिया माँग लिया करो,
जो दुआ नहीं पढ़ते है,
उनकी भी तकदीर संवार दिया करों।

जुम्मा मुबारक हो शायरी

जुम्मा मुबारक हो शायरी


दुआ माँग लिया करो दवा से पहले,
कोई नही देता शिफ़ा खुदा से पहले।
तुम अल्लाह को याद रखों,
अल्लाह तुम्हे याद रखेगा।
नमाज़ की तो वो शान है,
जो रोक देती हैं तवाफ़-ए-काबा को ए इंसान,
तेरे कामों की क्या औक़ात है,
जिस के लिए तू नमाज़ को छोड़ देता हैं।
काश उनको भी याद आऊ मैं जुम्मा की दुआओं में,
जो अक्सर मुझसे कहते है दुआओं में याद रखना।
सुकून” और “प्यार” ये चार चीज़ें,
ज़िन्दगी मैं ख़ूबसूरत बनती हैं,
अल्लाह पाक आप की ज़िन्दगी,
मैं किसी एक की भी कमी न करे।

जुम्मा मुबारक स्टेटस और शायरी हिंदी में


जब रव राज़ी होने लगता है,
तो बंदे को अपने ऐबों का पता चलना शुरू हो जाता है,
और ये इसकी रहमत की पहेली निशानी है।
ऐ ख़ुदा मौका देना सफर-ए-मक्का का,
सुना है जन्नत जैसा नजारा है वहाँ का।
गुजारिश है तुम से धन बरसे या न बरसे पर,
रोटी या प्यार को कोई न तरसे,
अस्सलाम वालेकुम हर किसी क लिए दुआ किया करो।
ऐ अल्लाह हमें अता कर दे वो माफ़ी,
जिस के बाद कभी गुनाह न हो हम से।
जो बन्दा अपने क्रोध को रोकेगा,
अल्ल्लाह पाक,
कयामत के दिन उस पर से
अजाब रोक देगा।

Jumma Mubarak SMS – जुम्मा मुबारक सन्देश, कोट्स


पलकों पे अपनी बिठाया है तुम्हे,
बढ़ी दुआओ के बाद पाया है तुम्हे,
आसानी से नहीं मिले हो तुम हमें,
दिल्ली के चिड़ियाघर से चुराया है तुम्हें।
या रब उनको सदा लाज़वाब रखना,
मैं उनसे दूर हूँ उनका ख्याल रखना,
मेरे जब भी हाथ उठे यही दुआ निकली,
उन के गिर्द हमेशा खुशियों का जाल रखना।
सारी तारीफ़ें उस खुदा के लिए है,
जो बोले वाले का कलाम को सुन्नता है,
और खामोश रहने वाले के दिल की बात जानता है।
तू अगर मुझे नवाजता है तो ये तेरा करम है या रब,
वरना तेरी रहमतो के काबिल मेरी बंदगी नहीं।
अंधेरों को नूर देता हैं,
उसका जिक्र सुरूर देता हैं,
उसके दर पर जो भी मांगता हैं,
खुदा उसे जरूर देता हैं।

तो दोस्तों मैं आशा करता हु की हमारे द्वारा बनाया गया Jumma Mubarak Quotes In Hindi, जुम्मा मुबारक शायरी इन हिंदी, Jumma Mubarak Wishes In Hindi, जुम्मा मुबारक उर्दू शायरी का कलेक्शन ( संग्रह ) आपको पसंद आया होगा। अगर सच में आपको ये लेख पसंद आया हो तो इसको शेयर जरूर कर दे। और कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट करके जरूर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी।

About the author

Nazim Khan

Nazim Khan

Hello Everyone, This Is Nazim Khan....
A Professional Blogger From Bareilly (Uttar Pradesh).... I Everyday Share Quotes, Status & Shayari On This Blog...

2 Comments

Leave a Comment